Sosial media

रविवार, 22 दिसंबर 2013

नन्‍हे जादू की आवाज़ में कहानी 'बदमाश कौआ' (पापा के जन्‍मदिन पर विशेष)

"
'कॉफी हाउस' ब्‍लॉग है कहानियों के पाठ का।
इसे शुरू इसी मक़सद से किया गया है कि हमारे यहां कहानियां सुनने का सिलसिला आगे बढ़े।

जीवन की व्‍यस्‍तताओं के बीच अगर पढ़ना मुश्किल है--तो सुनना कतई नहीं। सफ़र करते हुए भी सुना जा सकता है। इसलिए हम कहानियों के पाठ का एक ख़ज़ाना तैयार कर रहे हैं।

'कॉफी हाउस' में कहानियां सुनाने वाले तीन स्‍वर हैं। ममता सिंह। यूनुस ख़ान और हमारा तकरीबन साढ़े चार वर्षीय बेटा 'जादू'। हम बारी बारी से कहानियां लेकर आते हैं। 'जादू' के ज़रिये बाल कहानियों का पाठ पेश

किया जाता है। 'जादू' जी चाहते थे कि ये पोस्‍ट उनके पापा और दादा के जन्‍मदिन पर आए। पर दोनों ही बातें मुमकिन ना हो सकीं। वैसे भी दोनों के जन्‍मदिन पिछले सप्‍ताह पड़े और 'कॉफी-हाउस' का दिन होता है रविवार। बहरहाल....जादू जी की मरज़ी के मुताबिक़ इसे दादाजी और पापा की सालगिरह पर तोहफ़ा समझा जाए। तो सुनिए कहानी 'बदमाश कौआ'। इसे सुनने के लिए आपको अपनी व्‍यस्‍त जिंदगी में से ढाई मिनिट निकालने होंगे। कहानी को डाउनलोड करके साझा भी किया जा सकता है।

Story: Badmash Crow
Voice: Jadoo Ji
Writer: Yunus Khan
Duration: 2 25



एक और प्‍लेयर. ताकि सनद रहे।



डाउनलोड कड़ी एक
और
डाउनलोड कड़ी दो



ये भी कह दें कि 'कॉफी-हाउस' की कहानियों को आप डाउनलोड करके अपने मित्रों-आत्‍मीयों के साथ बांट सकते हैं। साझा कर सकते हैं। कोई समस्‍या है तो ये ट्यूटोरियल पढ़ें

अब तक की कहानियों की सूची- 

महादेवी वर्मा की रचना--'गिल्‍लू'
भीष्‍म साहनी की कहानी--'चीफ़ की दावत'
मन्‍नू भंडारी की कहानी-'सयानी बुआ'
एंतोन चेखव की कहानी- 'एक छोटा-सा मज़ाक़'
सियाराम शरण गुप्‍त की कहानी-- 'काकी'
हरिशंकर परसाई की रचना--'चिरऊ महाराज'
सुधा अरोड़ा की कहानी--'एक औरत तीन बटा चार'
सत्‍यजीत रे की कहानी--'सहपाठी'
जयशंकर प्रसाद की कहानी--'ममता'
दो बाल कहानियां--बड़े भैया के स्‍वर में
उषा प्रियंवदा की कहानी वापसी
अमरकांत की कहानी 'दोपहर का भोजन'
ओ. हेनरी की कहानी 'आखिरी पत्‍ता'
लू शुन की कहानी आखिरी बातचीत'
प्रत्‍यक्षा की कहानी 'बलमवा तुम क्‍या जानो प्रीत'
अज्ञेय की कहानी 'गैंगरीन'
महादेवी वर्मा का संस्‍मरण 'सोना हिरणा'
ओमा शर्मा की कहानी ग्‍लोबलाइज़ेशन
ममता कालिया की कहानी 
लैला मजनूं
प्रेमचंद की कहानी 'बड़े भाई साहब'
सूरज प्रकाश की कहानी 'दो जीवन समांतर'
कुमार अंबुज की कहानी 'एक दिन मन्‍ना डे'
अमृता प्रीतम की कहानी- 'एक जीवी, एक रत्‍नी, एक सपना'
जादू की सुनाई पापा की कहानी 'बादल भाई'
उदय प्रकाश की कहानी-'नेलकटर'
सूर्यबाला की कहानी 'दादी और रिमोट'
एस. आर. हरनोट की कहानी 'मोबाइल'
स्‍वयं प्रकाश की कहानी 'नीलकांत का सफर'


तो अब अगले रविवार मिलेंगे, किसी और रोचक कहानी के पाठ के साथ। आप डाउनलोड करके कहानियों को साझा कर रहे हैं ना। एक छोटा-सा काम और कीजिएगा। 'कॉफी-हाउस' के बारे में अपने साथियों को अवश्‍य बताईयेगा। 

"
'कॉफी हाउस' ब्‍लॉग है कहानियों के पाठ का।
इसे शुरू इसी मक़सद से किया गया है कि हमारे यहां कहानियां सुनने का सिलसिला आगे बढ़े।

जीवन की व्‍यस्‍तताओं के बीच अगर पढ़ना मुश्किल है--तो सुनना कतई नहीं। सफ़र करते हुए भी सुना जा सकता है। इसलिए हम कहानियों के पाठ का एक ख़ज़ाना तैयार कर रहे हैं।

'कॉफी हाउस' में कहानियां सुनाने वाले तीन स्‍वर हैं। ममता सिंह। यूनुस ख़ान और हमारा तकरीबन साढ़े चार वर्षीय बेटा 'जादू'। हम बारी बारी से कहानियां लेकर आते हैं। 'जादू' के ज़रिये बाल कहानियों का पाठ पेश

किया जाता है। 'जादू' जी चाहते थे कि ये पोस्‍ट उनके पापा और दादा के जन्‍मदिन पर आए। पर दोनों ही बातें मुमकिन ना हो सकीं। वैसे भी दोनों के जन्‍मदिन पिछले सप्‍ताह पड़े और 'कॉफी-हाउस' का दिन होता है रविवार। बहरहाल....जादू जी की मरज़ी के मुताबिक़ इसे दादाजी और पापा की सालगिरह पर तोहफ़ा समझा जाए। तो सुनिए कहानी 'बदमाश कौआ'। इसे सुनने के लिए आपको अपनी व्‍यस्‍त जिंदगी में से ढाई मिनिट निकालने होंगे। कहानी को डाउनलोड करके साझा भी किया जा सकता है।

Story: Badmash Crow
Voice: Jadoo Ji
Writer: Yunus Khan
Duration: 2 25



एक और प्‍लेयर. ताकि सनद रहे।



डाउनलोड कड़ी एक
और
डाउनलोड कड़ी दो



ये भी कह दें कि 'कॉफी-हाउस' की कहानियों को आप डाउनलोड करके अपने मित्रों-आत्‍मीयों के साथ बांट सकते हैं। साझा कर सकते हैं। कोई समस्‍या है तो ये ट्यूटोरियल पढ़ें

अब तक की कहानियों की सूची- 

महादेवी वर्मा की रचना--'गिल्‍लू'
भीष्‍म साहनी की कहानी--'चीफ़ की दावत'
मन्‍नू भंडारी की कहानी-'सयानी बुआ'
एंतोन चेखव की कहानी- 'एक छोटा-सा मज़ाक़'
सियाराम शरण गुप्‍त की कहानी-- 'काकी'
हरिशंकर परसाई की रचना--'चिरऊ महाराज'
सुधा अरोड़ा की कहानी--'एक औरत तीन बटा चार'
सत्‍यजीत रे की कहानी--'सहपाठी'
जयशंकर प्रसाद की कहानी--'ममता'
दो बाल कहानियां--बड़े भैया के स्‍वर में
उषा प्रियंवदा की कहानी वापसी
अमरकांत की कहानी 'दोपहर का भोजन'
ओ. हेनरी की कहानी 'आखिरी पत्‍ता'
लू शुन की कहानी आखिरी बातचीत'
प्रत्‍यक्षा की कहानी 'बलमवा तुम क्‍या जानो प्रीत'
अज्ञेय की कहानी 'गैंगरीन'
महादेवी वर्मा का संस्‍मरण 'सोना हिरणा'
ओमा शर्मा की कहानी ग्‍लोबलाइज़ेशन
ममता कालिया की कहानी 
लैला मजनूं
प्रेमचंद की कहानी 'बड़े भाई साहब'
सूरज प्रकाश की कहानी 'दो जीवन समांतर'
कुमार अंबुज की कहानी 'एक दिन मन्‍ना डे'
अमृता प्रीतम की कहानी- 'एक जीवी, एक रत्‍नी, एक सपना'
जादू की सुनाई पापा की कहानी 'बादल भाई'
उदय प्रकाश की कहानी-'नेलकटर'
सूर्यबाला की कहानी 'दादी और रिमोट'
एस. आर. हरनोट की कहानी 'मोबाइल'
स्‍वयं प्रकाश की कहानी 'नीलकांत का सफर'


तो अब अगले रविवार मिलेंगे, किसी और रोचक कहानी के पाठ के साथ। आप डाउनलोड करके कहानियों को साझा कर रहे हैं ना। एक छोटा-सा काम और कीजिएगा। 'कॉफी-हाउस' के बारे में अपने साथियों को अवश्‍य बताईयेगा। 

23 टिप्पणियाँ:

  1. जादू की शुभ्रा बुआ (मशहूर समाचार वाचिका शुभ्रा शर्मा) ने फौरन कहानी सुनी और ये टिप्‍पणी भेजी है।
    काग के भाग कहा कहिये --- हरि मुख से सुनावें जिसकी कहानी

    उत्तर देंहटाएं
  2. जादू के शिशिर अंकल ने कहा--'हाहाहा...मज़ा आ गया !!! शानदार और स्पष्ट आवाज़ और ज़बर्दस्त उतार-चढ़ाव...साथ में बालसुलभ तुतलाहट '...मुसीबत में पस जाओगे', '...चुड़ा ले गया', '...चलो चलो रोटी खाते हैं रोट्ची', जिसने कहानी का मज़ा चौगुना कर दिया ! वाकई जादू जी का कहानीपाठ भी इनके नाम की तरह जादू ही है, कहानी 3 बार सुन चुका हूं !!!'

    उत्तर देंहटाएं
  3. आह्हह। आज का इतवार तो बन गया। इसे अपने पड़ोस की बच्ची को सुनाने जा रही हूँ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. वाह... जादू की जादुई आवाज़ में कहानी सुनकर मज़ा आ गया... फिर से जन्‍मदिन मुबारक युनूस भाई।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. डॉक्टर मामा22 दिसंबर 2013 को 10:15 am

      हमारी तरफ़ से भी जन्‍मदिन मुबारक ......

      "पं० विष्णु शर्मा" जी*** को.................

      (*** "कॉफ़ी-हाउस" के) !
      :-)

      हटाएं
  5. "डॉक्टर मामा"22 दिसंबर 2013 को 9:46 am

    देखन में छोटे लगैं..........

    :-)

    उत्तर देंहटाएं
  6. कहानी सुनी बेचारे कौए ने कहना नहीं माना, तो उससे समझ आया कि अपनी भी चोंच फ़ँस सकती है ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. जादू जी के गाल खींचने का जी कर रहा है.
    ख़ूब सारा प्यार जादू बेटा !

    उत्तर देंहटाएं
  8. अर्चना पंत22 दिसंबर 2013 को 12:07 pm

    और जादू की बुआ निहाल हो गयी !
    आहा ! कैसी मिष्टी वाणी, कैसी भोली भोली तुतुलाहट .... और कितना स्पष्ट, भावपूर्ण, मधुर कथा वाचन !
    पूत के पाँव दिखने लगे .. :)
    बहुत बहुत प्यार, लाड़, आशीर्वाद जादू बेटा !
    शतायु भव ! ... यशस्वी भव !

    उत्तर देंहटाएं
  9. अहा...!!
    आनन्द आ गया...इत्ती प्याली प्याली आवाज सुन कर..!!

    उत्तर देंहटाएं
  10. bahut badhiya jadooji , hamari kahana champak nov 2 men happy birth de padhen batayen aapko kaisi lagi

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत ही बढ़िया । जादू जी को ढेर सारा प्यार और आशीष

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत ही गज़ब का संकलन बन रहा है ...शुक्रिया ....

    उत्तर देंहटाएं
  13. bahot hi lajawab..... parents ke pure sanskar dikhte hai...

    उत्तर देंहटाएं
  14. वाह, बहुत ही प्यारा, सुन्दर और मोहक आवाज।

    उत्तर देंहटाएं
  15. ममा को सुनायी है अभी जादू जी की कहानियाँ. वो कह रही हैं कि और सुनवाओ, और सुनवाओ. अब बताइये हम क्या करें ? बस, दो ही कहानियाँ हैं. ये कौव्वे वाली और वो बादल भाई वाली.
    बस्स !

    :-(

    अम्मा हमारी जिद्दिया गयी हैं.
    और सुनवाओ ! और सुनवाओ !

    :-(

    उत्तर देंहटाएं
  16. आहा!! उस दिन से लेकर अभी तक जाने कितनी बार सुन चूका हूँ जादू कि जादुई आवाज. :)

    उत्तर देंहटाएं
  17. वाह !जादू तू तो कमाल कर दिया यार

    उत्तर देंहटाएं
  18. इत्ती प्यारी आवाज़ और प्यारी कहानी सुनाने के लिए जादू को बहुत सारा प्यार

    उत्तर देंहटाएं