Sosial media

रविवार, 14 दिसंबर 2014

हरिशंकर परसाई का व्‍यंग्‍य 'एक मध्‍यमवर्गीय कुत्‍ता' (आवाज़ यूनुस ख़ान की)

"
'कॉफी हाउस' पर हम कहानियां ही नहीं पढ़ते, व्‍यंग्‍य और संस्‍मरणों का वाचन भी करते हैं।
मक़सद है सुनने के लिए स्‍तरीय सामग्री उपलब्‍ध करवाना। और सुनने सुनाने की परंपरा को आगे बढ़ाना।

हरिशंकर परसाई 'कॉफी हाउस' पर एक सतत उपस्थिति रहे हैं। और आगे भी रहेंगे। 'कॉफ़ी हाउस' में आज हम आपके लिए लेकर आए हैं हरिशंकर परसाई का व्‍यंग्‍य--'एक मध्‍यवर्गीय कुत्‍ता'
ये परसाई जी का एक चर्चित व्‍यंग्‍य है। और हर समय में एकदम प्रासंगिक भी। आपको बता दें कि इसे सुनने के लिए आपको अपने व्‍यस्‍त समय में से केवल तकरीबन सात मिनिट निकालने होंगे।

Satire Ek Madhyamvargiya Kutta
Writer: Harishankar Parsai
Voice: Yunus khan
Duration: 6 46


एक और प्‍लेयर ताकि सनद रहे।



और ये रहे डाउनलोड लिंक
Download link 1
Download link 2 

'कॉफी-हाउस' पर परसाई जी की तीन रचनाएं और उपलब्‍ध हैं। 'चिरऊ महाराज', 'ठिठुरता हुआ गणतंत्र' और मुक्तिबोध पर उनका संस्‍मरण। सुनने के लिए यहां क्लिक कीजिए। 


ये भी कह दें कि 'कॉफी-हाउस' की कहानियों को आप डाउनलोड करके अपने मित्रों-आत्‍मीयों के साथ बांट सकते हैं। साझा कर सकते हैं। कोई समस्‍या है तो ये ट्यूटोरियल पढ़ें

अब तक की कहानियों की सूची- 
महादेवी वर्मा की रचना--'गिल्‍लू'
भीष्‍म साहनी की कहानी--'चीफ़ की दावत'
मन्‍नू भंडारी की कहानी-'सयानी बुआ'
एंतोन चेखव की कहानी- 'एक छोटा-सा मज़ाक़'
सियाराम शरण गुप्‍त की कहानी-- 'काकी'
हरिशंकर परसाई की रचना--'चिरऊ महाराज'
सुधा अरोड़ा की कहानी--'एक औरत तीन बटा चार'
सत्‍यजीत रे की कहानी--'सहपाठी'
जयशंकर प्रसाद की कहानी--'ममता'
दो बाल कहानियां--बड़े भैया के स्‍वर में
उषा प्रियंवदा की कहानी वापसी
अमरकांत की कहानी 'दोपहर का भोजन'
ओ. हेनरी की कहानी 'आखिरी पत्‍ता'
लू शुन की कहानी आखिरी बातचीत'
प्रत्‍यक्षा की कहानी 'बलमवा तुम क्‍या जानो प्रीत'
अज्ञेय की कहानी 'गैंगरीन'
महादेवी वर्मा का संस्‍मरण 'सोना हिरणा'
ओमा शर्मा की कहानी ग्‍लोबलाइज़ेशन
ममता कालिया की कहानी 
लैला मजनूं
प्रेमचंद की कहानी 'बड़े भाई साहब'
सूरज प्रकाश की कहानी 'दो जीवन समांतर'
कुमार अंबुज की कहानी 'एक दिन मन्‍ना डे'
अमृता प्रीतम की कहानी- 'एक जीवी, एक रत्‍नी, एक सपना'
जादू की सुनाई पापा की कहानी 'बादल भाई'
उदय प्रकाश की कहानी-'नेलकटर'
सूर्यबाला की कहानी 'दादी और रिमोट'
एस. आर. हरनोट की कहानी 'मोबाइल'
स्‍वयं प्रकाश की कहानी 'नीलकांत का सफर'
जादू की कहानी 'बदमाश कौआ'
प्रेमचंद गांधी की कहानी--'31 दिसंबर की रात''
रवींद्र कालिया की कहानी- 'गोरैया'।
अरविंद की कहानी 'रेडियो'
लक्ष्‍मी शर्मा की कहानी 'बातें'
हरिशंकर परसाई का व्‍यंग्‍य 'ठिठुरता हुआ गणतंत्र'
चंदन पांडे की कहानी 'मोहर'
कैलाश वानखेड़े की कहानी 'सत्‍यापित'
विभा रानी की कहानी 'मोहन जोदाड़ो की नंगी मूरत'
अमरकांत की कहानी 'पलाश के फूल'
उपेंद्रनाथ अश्‍क की कहानी 'डाची'।
ज्ञानरंजन की कहानी 'अमरूद का पेड़'
कुर्रतुल-ऐन-हैदर की कहानी- 'फोटोग्राफर' 
शशिभूषण द्विवेदी की कहानी --'छुट्टी का दिन' 
मनीषा कुलश्रेष्‍ठ की कहानी 'मौसम के मकान सूने हैं'
प्रभात रंजन की कहानी -'पत्र लेखक, साहित्‍य और खिड़की'
गुलज़ार की कहानी 'तकसीम'
गैब्रिएल गार्सिया मार्केज़ की दो कहानियां 'गांव में कुछ बहुत बुरा होने वाला है' और 'ऐसे ही किसी दिन' 
गीताश्री की कहानी ''लबरी' 
हृदयेश की कहानी 'तोते' 
मधु अरोड़ा की कहानी 'मुक्ति'
तरूण भटनागर की कहानी 'ढिबरियों की क़ब्रगाह'
जगदंबा प्रसाद दीक्षित की कहानी 'मुहब्‍बत'
मंटो की कहानी 'टोबा टेकसिंह'
स्‍वाति तिवारी की कहानी 'बूंद गुलाब जल की'
मन्‍नू भंडारी की कहानी 'मुक्ति'
हरि भटनागर की कहानी 'ग्रामोफ़ोन' 
हुस्‍न तबस्‍सुम निहां की कहानी 'नीले पंखों वाली लड़कियां'
दुष्‍यंत की कहानी 'यार तुम भी बस' 
ग़ज़ाल ज़ैगम की कहानी 'नमस्‍ते बुआ' 
कविता राकेश की कहानी 'ज़ायका'।
संजय बोरूंडे की कहानी 'कुंआं' 
प्रेम भारद्वाज की कहानी 'प्‍लीज़ किल मी मम्‍मी' 
जयश्री राय की कहानी 'छुट्टी का दिन' 
रघुनंदन त्रिवेदी की कहानी 'सिफैलोटस'
शानी की कहानी 'जली हुई रस्‍सी'
नन्‍हे जादू की आवाज़ में कहानी 'लापरवाह पिंटू'
सत्‍यनारायण पटेल की कहानी 'पर पाज़ेब ना भीगे' 
हरिशंकर परसाई का संस्‍मरण 'मुक्तिबोध' 
गोविंद मिश्र की कहानी 'माइकल लोबो' 
श्रीकांत दुबे की कहानी 'दहन' 
वंदना शुक्‍ल की कहानी 'ईद मुबारक' 
राकेश बिहारी की कहानी 'किनारे से दूर' 
रमेश उपाध्‍याय की कहानी 'रूदाला'
पद्मा सचदेव की कहानी 'कल कहां जाओगी' 
किशोर चौधरी की कहानी 'चौराहे पर सीढियां'
ममता सिंह की कहानी 'धुंध'
आलोक श्रीवास्‍तव की कहानी 'आफ़रीन'  
काशीनाथ सिंह की कहानी 'तीन काल कथा' 

"
'कॉफी हाउस' पर हम कहानियां ही नहीं पढ़ते, व्‍यंग्‍य और संस्‍मरणों का वाचन भी करते हैं।
मक़सद है सुनने के लिए स्‍तरीय सामग्री उपलब्‍ध करवाना। और सुनने सुनाने की परंपरा को आगे बढ़ाना।

हरिशंकर परसाई 'कॉफी हाउस' पर एक सतत उपस्थिति रहे हैं। और आगे भी रहेंगे। 'कॉफ़ी हाउस' में आज हम आपके लिए लेकर आए हैं हरिशंकर परसाई का व्‍यंग्‍य--'एक मध्‍यवर्गीय कुत्‍ता'
ये परसाई जी का एक चर्चित व्‍यंग्‍य है। और हर समय में एकदम प्रासंगिक भी। आपको बता दें कि इसे सुनने के लिए आपको अपने व्‍यस्‍त समय में से केवल तकरीबन सात मिनिट निकालने होंगे।

Satire Ek Madhyamvargiya Kutta
Writer: Harishankar Parsai
Voice: Yunus khan
Duration: 6 46


एक और प्‍लेयर ताकि सनद रहे।



और ये रहे डाउनलोड लिंक
Download link 1
Download link 2 

'कॉफी-हाउस' पर परसाई जी की तीन रचनाएं और उपलब्‍ध हैं। 'चिरऊ महाराज', 'ठिठुरता हुआ गणतंत्र' और मुक्तिबोध पर उनका संस्‍मरण। सुनने के लिए यहां क्लिक कीजिए। 


ये भी कह दें कि 'कॉफी-हाउस' की कहानियों को आप डाउनलोड करके अपने मित्रों-आत्‍मीयों के साथ बांट सकते हैं। साझा कर सकते हैं। कोई समस्‍या है तो ये ट्यूटोरियल पढ़ें

अब तक की कहानियों की सूची- 
महादेवी वर्मा की रचना--'गिल्‍लू'
भीष्‍म साहनी की कहानी--'चीफ़ की दावत'
मन्‍नू भंडारी की कहानी-'सयानी बुआ'
एंतोन चेखव की कहानी- 'एक छोटा-सा मज़ाक़'
सियाराम शरण गुप्‍त की कहानी-- 'काकी'
हरिशंकर परसाई की रचना--'चिरऊ महाराज'
सुधा अरोड़ा की कहानी--'एक औरत तीन बटा चार'
सत्‍यजीत रे की कहानी--'सहपाठी'
जयशंकर प्रसाद की कहानी--'ममता'
दो बाल कहानियां--बड़े भैया के स्‍वर में
उषा प्रियंवदा की कहानी वापसी
अमरकांत की कहानी 'दोपहर का भोजन'
ओ. हेनरी की कहानी 'आखिरी पत्‍ता'
लू शुन की कहानी आखिरी बातचीत'
प्रत्‍यक्षा की कहानी 'बलमवा तुम क्‍या जानो प्रीत'
अज्ञेय की कहानी 'गैंगरीन'
महादेवी वर्मा का संस्‍मरण 'सोना हिरणा'
ओमा शर्मा की कहानी ग्‍लोबलाइज़ेशन
ममता कालिया की कहानी 
लैला मजनूं
प्रेमचंद की कहानी 'बड़े भाई साहब'
सूरज प्रकाश की कहानी 'दो जीवन समांतर'
कुमार अंबुज की कहानी 'एक दिन मन्‍ना डे'
अमृता प्रीतम की कहानी- 'एक जीवी, एक रत्‍नी, एक सपना'
जादू की सुनाई पापा की कहानी 'बादल भाई'
उदय प्रकाश की कहानी-'नेलकटर'
सूर्यबाला की कहानी 'दादी और रिमोट'
एस. आर. हरनोट की कहानी 'मोबाइल'
स्‍वयं प्रकाश की कहानी 'नीलकांत का सफर'
जादू की कहानी 'बदमाश कौआ'
प्रेमचंद गांधी की कहानी--'31 दिसंबर की रात''
रवींद्र कालिया की कहानी- 'गोरैया'।
अरविंद की कहानी 'रेडियो'
लक्ष्‍मी शर्मा की कहानी 'बातें'
हरिशंकर परसाई का व्‍यंग्‍य 'ठिठुरता हुआ गणतंत्र'
चंदन पांडे की कहानी 'मोहर'
कैलाश वानखेड़े की कहानी 'सत्‍यापित'
विभा रानी की कहानी 'मोहन जोदाड़ो की नंगी मूरत'
अमरकांत की कहानी 'पलाश के फूल'
उपेंद्रनाथ अश्‍क की कहानी 'डाची'।
ज्ञानरंजन की कहानी 'अमरूद का पेड़'
कुर्रतुल-ऐन-हैदर की कहानी- 'फोटोग्राफर' 
शशिभूषण द्विवेदी की कहानी --'छुट्टी का दिन' 
मनीषा कुलश्रेष्‍ठ की कहानी 'मौसम के मकान सूने हैं'
प्रभात रंजन की कहानी -'पत्र लेखक, साहित्‍य और खिड़की'
गुलज़ार की कहानी 'तकसीम'
गैब्रिएल गार्सिया मार्केज़ की दो कहानियां 'गांव में कुछ बहुत बुरा होने वाला है' और 'ऐसे ही किसी दिन' 
गीताश्री की कहानी ''लबरी' 
हृदयेश की कहानी 'तोते' 
मधु अरोड़ा की कहानी 'मुक्ति'
तरूण भटनागर की कहानी 'ढिबरियों की क़ब्रगाह'
जगदंबा प्रसाद दीक्षित की कहानी 'मुहब्‍बत'
मंटो की कहानी 'टोबा टेकसिंह'
स्‍वाति तिवारी की कहानी 'बूंद गुलाब जल की'
मन्‍नू भंडारी की कहानी 'मुक्ति'
हरि भटनागर की कहानी 'ग्रामोफ़ोन' 
हुस्‍न तबस्‍सुम निहां की कहानी 'नीले पंखों वाली लड़कियां'
दुष्‍यंत की कहानी 'यार तुम भी बस' 
ग़ज़ाल ज़ैगम की कहानी 'नमस्‍ते बुआ' 
कविता राकेश की कहानी 'ज़ायका'।
संजय बोरूंडे की कहानी 'कुंआं' 
प्रेम भारद्वाज की कहानी 'प्‍लीज़ किल मी मम्‍मी' 
जयश्री राय की कहानी 'छुट्टी का दिन' 
रघुनंदन त्रिवेदी की कहानी 'सिफैलोटस'
शानी की कहानी 'जली हुई रस्‍सी'
नन्‍हे जादू की आवाज़ में कहानी 'लापरवाह पिंटू'
सत्‍यनारायण पटेल की कहानी 'पर पाज़ेब ना भीगे' 
हरिशंकर परसाई का संस्‍मरण 'मुक्तिबोध' 
गोविंद मिश्र की कहानी 'माइकल लोबो' 
श्रीकांत दुबे की कहानी 'दहन' 
वंदना शुक्‍ल की कहानी 'ईद मुबारक' 
राकेश बिहारी की कहानी 'किनारे से दूर' 
रमेश उपाध्‍याय की कहानी 'रूदाला'
पद्मा सचदेव की कहानी 'कल कहां जाओगी' 
किशोर चौधरी की कहानी 'चौराहे पर सीढियां'
ममता सिंह की कहानी 'धुंध'
आलोक श्रीवास्‍तव की कहानी 'आफ़रीन'  
काशीनाथ सिंह की कहानी 'तीन काल कथा' 

3 टिप्पणियाँ:

  1. बहुत सुन्दर! मजा आ गया सुबह-सुबह इसे सुनकर!

    उत्तर देंहटाएं
  2. य़ूँ तो पहले भी पढ़ी है यह रचना; पर "कॉफ़ी हाउस" में बैठ कर सुनने का मज़ा ही कुछ और है !

    उत्तर देंहटाएं